Sudiksha Bhati Case: पुलिस का छेड़खानी से इनकार, पिता बोले- यह मर्डर है

अमेरिका में करीब 4 करोड़ का स्कॉलरशिप हासिल करने वाली सुदीक्षा भाटी (Sudiksha Bhati) की बुलंदशहर (उत्तर प्रदेश) में सड़क हादसे में मौत हो गई।

0
2612

America: अमेरिका में करीब 4 करोड़ का स्कॉलरशिप हासिल करने वाली सुदीक्षा भाटी (Sudiksha Bhati) की बुलंदशहर (उत्तर प्रदेश) में सड़क हादसे में मौत हो गई। सुदीक्षा अपने मामा से मिलने के लिए अपने भाई के साथ बाइक पर जा रही थी। इसी दौरान सड़क हादसे में उसकी मौत हो गई।पुलिस इसे महज सड़क हादसे का मामला बता रही है, वहीं छात्रा के पिता का कहना है कि यह हादसा नहीं मर्डर है।

सुदीक्षा (Sudiksha Bhati) के पिता जीतेंद्र भाटी ने एक न्यूज चैनल से बातचीत में कहा कि पुलिस ने अब तक हमसे कोई संपर्क नहीं किया और न ही मामले में एफआईआर दर्ज की। पुलिस मौके पर भी गई थी और सब पता है कि क्या हुआ था फिर क्यों नहीं FIR दर्ज की गई। जीतेंद्र भाटी ने आगे कहा कि पुलिस इसे सड़क हादसा बता रही है लेकिन यह हादसा हुआ नहीं बल्कि कराया गया है। यह मर्डर है और अभी तक एक भी आरोपी पकड़ा नहीं गया है।

वहीं बुलंदशहर पुलिस के अपर पुलिस अधीक्षक ने बताया कि औरंगाबाद थाना पुलिस को एक सूचना मिली थी कि एक सड़क हादसा हुआ है। इसके तुरंत बाद पुलिस मौके पर पहुंची तो पता चला कि सुदीक्षा अपने भाई के साथ मामा के घर जा रही थी, इसी दौरान वहां ऐक्सिडेंट हुआ और सुदीक्षा की मौत हो गई।

पुलिस ने आगे बताया कि भाई और प्रत्यक्षदर्शियों से पूछताछ की गई हैं। उन्होंने बताया कि सामने से एक बुलेट मोटरसाइकल जा रही थी। ट्रैफिक के कारण बुलेट सवार ने अचानक ब्रेक मारा जिसके कारण बाइक भाई-बहन की गाड़ी से टकराई। टकराने के बाद सुदीक्षा की गिरने से दुखद मौत हो गई। उस वक्त सुदीक्षा के भाई या किसी ने भी छेड़छाड़ की बात नहीं बताई थी।

पुलिस ने सुदीक्षा के भाई का बयान भी जारी किया, जिसमें वह कह रहा है कि हम आ रहे थे 30 की स्पीड से, दीदी कह रही थी कि पहले गांव चले मामा के पास, मैंने कहा कि दीदी पहले घर चलते हैं। दीदी बोली ठीक है, मामा से बात भी हो गई। फिर एक गाड़ी ने इमर्जेंसी ब्रेक मारी, हमारी 30 की स्पीड की गाड़ी थी, दीदी सड़क पर गिर गई। वह बाइक बुलेट थी और उस पर जाट लिखा हुआ था।

आपको बता दें कि सुदीक्षा भाटी (Sudiksha Bhati) अमेरिका के बॉबसन कॉलेज से पढ़ाई कर रही थीं। उसे 3.8 करोड़ की स्कॉलरशिप मिली थी। सुदीक्षा को 20 अगस्त को अमेरिका वापस जाना था। कोरोना संक्रमण के चलते वह जून के पहले हफ्ते में अमेरिका से घर आई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here