दिल्ली सरकार को सुप्रीम कोर्ट की फटकार, कहा ऐसा ही रहा तो “कचरे के ढेर में दब जाएगा भारत”

0
221
SC WITH KEJRIWAL

सुप्रीम कोर्ट ने देश में ठोस अपशिष्ट प्रबंधन नियमों को लागू नहीं किए जाने पर गहरी नाराज़गी जताई है देश में प्रतिदिन बढ़ रहे कचरे को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने कहा की भारत की स्थिति गंदगी को लेकर सही नहीं है एक दिन ऐसा आएगा जब गंदगी के ढेर में पूरा भारत बदल जाएगा। वहीं मामले पर शीर्ष अदालत ने भी अपना कड़ा रुख करते हुए कहा कि वह दिन अब धीरे धीरे नजदीक आ रहा है जब गाजीपुर में कचरे का पहाड़ क़ुतुब मीनार की ऊंचाई छू लेगा। जैसे विमान को रोकने के लिए हरी और लाल बत्ती काम करती है वैसे ही कचरे में भारत को कचरे में दबने से बचने के लिए भी बत्ती की जरूरत है। न्यायमूर्ति मदन बी.लोकुर और न्यायमूर्ति दीपक गुप्ता की पीठ ने कहा, ‘‘हम आदेश देते रहते हैं, लेकिन ठोस अपशिष्ट प्रबंधन नियमों को लागू नहीं किया गया। आदेश देने का क्या फायदा है जब कोई भी इसे लागू करने को चिंतित नहीं है।

सुप्रीम कोर्ट ने अपने बयान में कूड़े के नहीं निवारण का जिक्र करते केंद्र शासित प्रदेशों से ठोस अपशिष्ट के निपटारे के लिए तीन महीने एक योजना बनाने के लिए कहा है। इसी केस पर काम कर रहे अदालत के सहयोगी वकील कोलिन गोंजाल्विस ने अपने बयान में कहा जल्द ही सरकार तीन से चार महीने में ठोस अपशिष्ट प्रबंधन नियमों को लागू करने का निर्देश दे और अगर सरकार इस नियम को लागू करने में विफल रहती है तो सरकार पर भी करवाई की जा सकती है। सुप्रीम कोर्ट ने मामले की अगली सुनवाई जुलाई में रही है जिसके बाद पूरे देश में ठोस अपशिष्ट प्रबंधन नियम पर सुनवाई होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here