अजित पवार के पैर छूने के लिए नहीं, बल्कि माइक उठाने के लिए झुकी थीं सुप्रिया सुले।

अजित पवार ने जैसे ही बुधवार को सुबह विधान भवन के परिसर में प्रवेश किया तो उनकी चचेरी बहन और लोकसभा सांसद सुप्रिया सुले (Supriya Sule) ने उन्हें गले लगाया.

0
262

महाराष्ट्र विधानसभा का विशेष सत्र बुधवार को सुबह आरंभ होने पर सभी की नजरें NCP नेता अजित पवार (Ajit Pawar) पर टिकी हुई थीं जिन्होंने पार्टी से विद्रोह कर सरकार बनाने के लिए BJP को समर्थन देकर हैरान कर दिया था, लेकिन मंगलवार को उन्होंने इस्तीफा भी दे दिया. अजित पवार ने जैसे ही बुधवार को सुबह विधान भवन के परिसर में प्रवेश किया तो उनकी चचेरी बहन और लोकसभा सांसद सुप्रिया सुले (Supriya Sule) ने उन्हें गले लगाया. लेकिन बीच में माइक आ गया. रिपोर्टर ने दोनों के बीचमें से हाथ निकालने के लिए माइक छोड़ दिया। जैसे ही माइक नीचे गिरा तो सुप्रिया सुले ने झुककर रिपोर्टर की मदद की. इसी बीच खबरें आने लगीं कि सुप्रिया सुले ने अजित पवार के पैर छुए. लेकिन वो अजित पवार के पैर छूने के लिए नहीं, बल्कि माइक उठाने के लिए झुकी थीं.

NCP प्रमुख शरद पवार की बेटी सुप्रिया सुले (Supriya Sule) अपनी पार्टी के विधायकों का स्वागत करने के लिए विधान भवन के प्रवेश द्वार पर खड़ी थीं. विधान भवन परिसर में संवाददाताओं से बात करते हुए अजित पवार ने कहा, “मैं राकांपा में था और अब भी हूं. मैनें पार्टी कभी नहीं छोड़ी.” देवेंद्र फडणवीस के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार को समर्थन देने के लिए अजित पवार के शनिवार को अपनी पार्टी से बगावत करने के बाद भावुक दिखी उनकी चचेरी बहन सुले ने अपने व्हाट्सएप स्टेटस में लिखा था कि पवार परिवार और पार्टी बंट गयी है.

उन्होंने अपने स्टेटस में लिखा था, “आप जीवन में किस पर भरोसा करोगे. इतना ठगा हुआ कभी महसूस नहीं हुआ. उनका बचाव किया, उन्हें प्यार दिया। देखो बदले में क्या मिला मुझे.” महाराष्ट्र में नाटकीय घटनाक्रम के तहत शनिवार को राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने राजभवन में भाजपा के देवेंद्र फड़णवीस को मुख्यमंत्री और राकांपा के अजित पवार को उपमुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई थी.

पुणे की बारामती सीट से 1.65 लाख मतों के अंतर से विधानसभा चुनाव जीतने वाले राकांपा विधायक ने मंगलवार को उपमुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था जिसके बाद फडणवीस ने भी मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया और भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार गिर गई. महाराष्ट्र में नव निर्वाचित विधायकों को शपथ दिलाने के लिए 14वीं विधानसभा का विशेष सत्र बुधवार सुबह आरंभ हो गया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here