सुशांत सिंह राजपूत केस में सुप्रीम कोर्ट का फैसला : CBI करेगी जांच

सुप्रीम कोर्ट ने सुशांत सिंह राजपूत की मौत के संबंध में पटना में दर्ज प्राथमिकी की जांच CBI से कराने की बिहार सरकार की सिफारिश को बुधवार को सही ठहराया।

0
1213

सुशांत सिंह राजपूत मौत मामले (Sushant Singh Rajput Case) की CBI जांच को सुप्रीम कोर्ट ने हरी झंडी दे दी है। सुप्रीम कोर्ट ने सुशांत सिंह राजपूत की मौत के संबंध में पटना में दर्ज प्राथमिकी की जांच CBI से कराने की बिहार सरकार की सिफारिश को बुधवार को सही ठहराया। साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने मुंबई पुलिस से सीबीआई जांच में सहयोग करने का आदेश दिया है। बता दें कि पटना में यह प्राथमिकी सुशांत सिंह राजपूत के पिता कृष्ण किशोर सिंह ने दर्ज कराई थी। तो चलिए जानते हैं सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में क्या-क्या कहा है.

सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने रिया चक्रवर्ती की याचिका पर फैसला सुनाते हुए कहा कि बिहार पुलिस द्वारा दर्ज प्राथमिकी सही है और सीबीआई जांच की सिफारिश कानून सम्मत है। इसलिए इस केस की जांच CBI करेगी।

सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में लिखा, ‘सुशांत सिंह राजपूत एक टैलंटेड ऐक्टर थे और उनकी पूरी काबिलियत का पता चलने से पहले ही उनकी मौत हो गई। काफी लोग इस केस की जांच के परिणाम का इंतजार कर रहे हैं, इसलिए कयासों को रोकना होगा। इसलिए इस मामले में निष्पक्ष, पर्याप्त और तटस्थ जांच समय की जरूरत है।’

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि बिहार सरकार मामले को जांच के लिए CBI के पास भेजने के लिए सक्षम है और भारतीय दंड संहिता की धारा 174 (आत्महत्या की जांच) के तहत जांच कर रही मुंबई पुलिस का अधिकार क्षेत्र सीमित है।

सुशांत सिंह केस (Sushant Singh Rajput Case) में अपने फैसले के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने मुंबई पुलिस को सीबीआई जांच में सहयोग करने का आदेश दिया। साथ ही कोर्ट ने यह स्पष्ट किया कि मुंबई पुलिस द्वारा केस से जुड़े सभी दस्तावेज समेत कई अन्य महत्वूर्ण दस्तावेज सीबीआई को सौंपे जाएंगे।

सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में यह स्पष्ट कर दिया कि सुशांत सिंह राजपूत मौत मामले संबंधित अगर कोई अन्य मामला भी दर्ज है तो उसकी जांच भी सीबीआई ही करेगी।

सुशांत सिंह केस (Sushant Singh Rajput Case) में सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद स्पष्ट हो गया कि अब सीबीआई को महाराष्ट्र सरकार से जांच की इजाजत नहीं लेनी होगी। सीबीआई चाहे बिहार से लेकर मुंबई तक किसी से भी पूछताछ कर सकती है। बिहार पुलिस को जिन बाधाओं का सामना करना पड़ा, सीबीआई को यह नहीं झेलना पड़ेगा।

कानून एक्सपर्ट की मानें तो महाराष्ट्र सरकार सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले को चुनौती भी दे सकती है। क्योंकि यह फैसला न्यायमूर्ति ऋषिकेश रॉय की एकल पीठ ने सुनाया है, तो महाराष्ट्र सरकार के पास डबल बेंच में भी जाने के विकल्प हो सकते हैं।

सुशांत सिंह मौत मामले में सुप्रीम कोर्ट के सीबीआई जांच के फैसले से महाराष्ट्र सरकार, मुंबई पुलिस और रिया चक्रवर्ती को बड़ा झटका लगा है। महाराष्ट्र सरकार और मुंबई पुलिस शुरू से ही सीबीआई जांच का विरोध कर रही थी, वहीं रिया पटना में दर्ज एफआईआर को मुंबई ट्रांसफर करवाना चाहती थीं।

सुप्रीम कोर्ट से हरी झंडी मिलने के बाद सीबीआई सुशांत सिंह मौत मामले की नए सिरे से जांच करेगी। हालांकि, मुंबई पुलिस और बिहार पुलिस द्वारा अब तक जांच किए गए दस्तावेजों का भी मुआयना करेगी। सीबीआई घटनास्थल पर जाएगी और हर गवाह से पूछताछ करेगी।

गौरतलब है कि अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत 14 जून को मुंबई के उपनगर बांद्रा में अपने अपार्टमेंट में फंदे से लटके पाए गए थे। इसके बाद उनके पिता केके सिंह ने सीबीआई जांच की मांग की, जिसके बाद नीतीश सरकार ने इसकी सिफारिश की और केंद्र ने मंजूरी दी थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here