मोसुल में लापता 39 भारतीयों की कहानी खत्म, ISIS ने की निर्मम हत्या

0
165

चार साल पहले इराक के मोसुल में लापता हुए 39 भारतीय मारे गए हैं. विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने राज्यसभा में इस बात की जानकारी दी. सुषमा स्वराज ने बताया कि सभी भारतीयों को ISIS ने मारा था, जिनके बाद शवों को बगदाद भेज दिया गया था. हमने DNA सैंपल के जरिए सभी शवों की जांच करवाई.

उन्होंने बताया कि जो हरजीत मसीह की कहानी थी, वह सच्ची नहीं थी. जो 39 शव मिले हैं, उनमें से 38 के डीएनए मैच कर गए हैं और 39वें की जांच चल रही है. सुषमा ने बताया कि हमने पहाड़ की खुदाई करने के बाद शवों को निकाला था, जनरल वीके सिंह वहां पर गए और सबूतों को खोजने में मेहनत की. उन्होंने बताया कि सबसे पहले संदीप नाम के शख्स का डीएनए मैच किया गया था.

सुषमा ने बताया कि वीके सिंह इराक जाएंगे, सभी शवों को लाया जाएगा. सबसे पहले जहाज अमृतसर जाएगा और उसके बाद पटना, पश्चिम बंगाल जाएगा. सुषमा ने राज्यसभा में बताया कि डीप पेनिट्रेशन रडार के जरिए बॉडी को देखा गया था, उसके बाद सभी शवों को बाहर निकाला गया. जिसमें कई चिन्ह मिले थे और डीएनए की जांच के बाद पुष्टि हुई है. विदेश मंत्री ने बताया कि 3 वर्षों तक ये तलाश चलती रही.

पढ़ें सुषमा स्वराज के भाषण की 15 बातें
1. इराक के मोसुल में अगवा 39 भारतीयों को ISIS ने मार डाला.

2. 2014 में अगवा किये गये भारतीयों की हत्या की पुष्टि.

3. इराक की कंपनी में काम कर रहे भारतीयों की हत्या हुई.

4. ISIS ने 40 भारतीयों के साथ बांग्लादेशियों को भी पकड़ा था.

5. ISIS ने उन्हें तब कब्ज़े में लिया, जब वो खाना खाने जा रहे थे.

6. ISIS ने बांग्लादेशियों को छोड़ा, सभी को इरबिल भेज दिया.

7. बांग्लादेशियों के साथ एक भारतीय हरजीत मसीह भी निकला.

8. हरजीत मसीह ने अपना नाम अली बताया और निकल गया.

9. ISIS ने 40 भारतीयों की गिनती की तो वो 39 ही निकले.

10. सभी 39 भारतीयों को ISIS ने इराक के बदूश भेज दिया.

11. जांच में पता चला कि बदूश के एक पहाड़ पर सामूहिक कब्र है.

12. कब्र की रडार से जांच की गई तो 39 शवों का पता चला.

13. खुदाई कर शवों को निकाला गया तो हिंदुस्तानी कड़े मिले.

14. शवों से लंबे बाल और कड़े मिले, जिससे भारतीय होने का शक.

15. कुछ शवों के जूते ऐसे थे जो इराक़ में नहीं बने हुए थे.

16. लापता 39 भारतीयों के रिश्तेदारों का DNA सैंपल भेजा गया.

बाजवा ने उठाए सवाल

पंजाब कांग्रेस के नेता प्रताप बाजवा ने इस मुद्दे पर कहा है कि सुषमा स्वराज ने सदन को गुमराह किया है. उन्हें पहले ही जानकारी थी कि सभी मारे जा चुके हैं, जो हम लोग कह रहे थे वही सच निकला है. बाजवा ने अपील की है कि मृतकों के परिवार गरीब हैं, उन्हें मुआवजा मिलना चाहिए. मृतकों के परिवार के लोग करीब 20 से 25 बार सुषमा स्वराज से मिले थे.

क्या थी हरजीत मसीह की थ्योरी?

मोसुल पर ISIS के कब्जे के बाद जून 2014 में 39 भारतीय मजदूरों को बंधक बनाने की खबर आई थी. इस बीच हरजीत सिंह ISIS के चंगुल से निकलने में सफल रहा था. भारत आकर हरजीत मसीह ने दावा किया था कि सभी 39 भारतीय मजदूरों की गोली मारकर हत्या कर दी गई है.

जिन 39 भारतीयों को आईएसआईएस के आतंकियों ने जून 2014 में अपहृत किया था. उनमें 22 लोग पंजाब के अमृतसर, गुरदासपुर, होश‍ियारपुर, कपूरथला और जालंधर से थे. पिछले साल केंद्रीय मंत्री जनरल वीके सिंह इन 39 भारतीयों की तलाश में मोसुल गए थे.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here