Swami Chinmayananda Case: एसआईटी के निशाने पर छात्रा ।

दुष्कर्म के आरोप में स्वामी चिन्मयानंद और फिरौती मामले में युवकों को जेल भेजे जाने के बाद SIT के निशाने पर छात्रा भी आ गई है।

0
1028

Swami Chinmayananda Case: दुष्कर्म के आरोप में स्वामी चिन्मयानंद और फिरौती मामले में युवकों को जेल भेजे जाने के बाद SIT के निशाने पर छात्रा भी आ गई है। बताते हैं कि शनिवार को SIT ने कोर्ट पहुंचकर न्यायिक अफसरों से दोनों मामलों को लेकर चर्चा की। SIT के कोर्ट में पहुंचने पर छात्रा की गिरफ्तारी की अटकलें तेज हो गईं हैं। वहीं छात्रा के पिता ने भी बेटी को बचाने के लिए वकीलों से राय मशविरा लेना शुरू कर दिया है।

चिन्मयानंद (Swami Chinmayananda) के खिलाफ दर्ज अपहरण और जान से मारने की धमकी व स्वामी से पांच करोड़ की फिरौती मांगे जाने के मामले में अज्ञात में दर्ज रिपोर्ट की विवेचना SIT ने सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर हाईकोर्ट की निगरानी में शुरू की तो दोनों पक्षों के वीडियो सामने आ गए। मोबाइल कॉल डिटेल्स आदि के आधार पर SIT ने स्वामी को दोषी माना तो वहीं फिरौती मामले में छात्रा और उसके दोस्त संजय, विक्रम, सचिन को भी दोषी माना क्योंकि दोनों पक्ष वीडियो देखकर मान चुके हैं कि वह लोग दोषी हैं।

इसलिए SIT ने जांच के आधार पर दर्ज मामलों में धाराएं बढ़ाते हुए स्वामी और छात्रा के तीनों दोस्तों को शुक्रवार को जेल भेज दिया। अब फिरौती मामले में छात्रा की संलिप्तता और उसकी स्वीकारोक्ति के आधार पर SIT ने छात्रा को निशाने पर ले लिया है। इसी परिप्रेक्ष्य में SIT के अफसर शनिवार को पहले दोपहर करीब 12:45 बजे और फिर शाम को करीब पौने पांच बजे कोर्ट पहुंचे ताकि छात्रा की गिरफ्तारी का वारंट जारी हो सके और उसकी गिरफ्तारी का रास्ता साफ हो सके।

पीड़ित छात्रा के घर के बाहर लगी पुलिस सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेने तहसीलदार सदर पुष्पेंद्र कुमार, चौक कोतवाली इंस्पेक्टर प्रवेश सिंह के साथ दोपहर 2:30 बजे पहुंचे। उन्होंने छात्रा के घर के सामने ड्यूटी पर मौजूद पुलिस कर्मियों से ड्यूटी के संबंध में जानकारी ली और कहा कि जब तक परिवार वाले मिलने की अनुमति न दें, तब तक किसी को घर में न जाने दें।

उन्होंने रजिस्टर पर एक नजर भी दौड़ाई कि छात्रा और उसके परिजनों से कौन और कब-कब, कितने लोग मिलने आते हैं। इंस्पेक्टर प्रवेश सिंह ने बताया कि शनिवार को वह तहसीलदार सदर के साथ छात्रा के घर लगी सुरक्षा का जायजा लेने गए थे। उन्होंने बताया कि सुरक्षा में चूक न हो इसलिए बार-बार अलग-अलग अधिकारी राउंड लगाते रहते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here