BJP ने स्वामी चिन्मयानंद से किया किनारा, पार्टी की तरफ से आया बयान

कानून की एक छात्रा द्वारा रेप और ब्लैकमेल का आरोप लगाए जाने के बाद पिछले सप्ताह गिरफ्तार किए गए पूर्व केंद्रीय मंत्री चिन्मयानंद अब भारतीय जनता पार्टी (BJP) के सदस्य नहीं हैं.

0
1010

कानून की एक छात्रा द्वारा रेप और ब्लैकमेल का आरोप लगाए जाने के बाद पिछले सप्ताह गिरफ्तार किए गए पूर्व केंद्रीय मंत्री चिन्मयानंद (Swami Chinmayananda) अब भारतीय जनता पार्टी (BJP) के सदस्य नहीं हैं. यह दावा उत्तर प्रदेश में पार्टी के प्रवक्ता ने बुधवार को किया, जो आरोपों के सामने आने के पार्टी की एक महीने बाद दी गई पहली आधिकारिक प्रतिक्रिया है.

72-वर्षीय चिन्मयानंद (Swami Chinmayananda) केंद्र की अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व वाली सरकार में राज्यमंत्री थे. वह तीन कार्यकाल तक पार्टी के सांसद भी रह चुके हैं. उत्तर प्रदेश में BJP के प्रवक्ता हरीश श्रीवास्तव ने बताया, “चिन्मयानंद अब BJP के सदस्य नहीं रहे हैं… कानून अपना काम करेगा…”

यह पूछे जाने पर कि चिन्मयानंद (Swami Chinmayananda) कब से BJP के सदस्य नहीं हैं, हरीश श्रीवास्तव ने कहा, “यह दस्तावेज़ का सवाल नहीं है, और हम आपको एक सटीक तारीख नहीं बता सकते, लेकिन चिन्मयानंद BJP के सदस्य नहीं हैं…”

बीजेपी नेता चिन्मयानंद (Swami Chinmayananda) को Law की छात्रा से बलात्कार के आरोप में यूपी SIT ने 20 सितंबर को गिरफ्तार किया था. कोर्ट ने उनको 14 दिन के लिए जेल भेजा है. गौरतलब है कि चिन्मयानंद (Chinmayanand) के बारे में लॉ छात्रा ने 12 पन्नों की शिकायत और SIT को दिए बयान में कई चौंका देने वाली बातें सामने आई हैं. पीड़िता का कहना है कि चिन्मयानंद ने ब्लैकमेल कर रेप किया है. पीड़िता का हॉस्टल के बाथरूम में नहाने का वीडियो बनाया गया और उस वीडियो को वॉयरल करने की धमकी देकर एक साल तक रेप करता रहा. साथ ही पीड़िता ने बताया कि चिन्मयानंद ने शारीरिक शोषण का वीडियो भी बनाया है. चिन्मयानंद पीड़िता से मसाज करने का भी दबाव बनाता था और कई बार उसके साथ बंदूक के दम पर भी रेप हुआ है. लड़की ने भी अपने बचाव के लिए चिन्मयानंद का वीडियो बनाया है. लड़की ने इसके लिए अपने चश्मे में खुफिया कैमरा लगाया और चिन्मयानंद का वीडियो बनाया है.

रेप का आरोप लगाने वाली लड़की ने घर पास में होने के बावजूद हॉस्टल में रहने के पीछे कारणों का खुलासा किया है. उसने बताया कि वह LLM में एडमीशन लेने के लिए गई था लेकिन चिन्मयानंद ने उसे नौकरी दे दी. नौकरी में काम का ज्यादा बोझ होने के कारण उसे हॉस्टल में रहना पड़ा जहां उसके साथ गलत हुआ.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here