तेलंगाना में महिला डॉक्टर का दुष्‍कर्म और उसकी निर्मम हत्या के आरोपी ढेर, राजनेताओं ने उठाए सवाल

दिल्ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि यह चिंता का विषय है कि लोगों का क्रिमिनल जस्टिस सिस्टम से भरोसा उठ गया है।

0
1565

तेलंगाना (Telangana) में महिला डॉक्टर का दुष्‍कर्म और उसकी निर्मम हत्या (Rape and murder) के मामले में एक चौंकाने वाला मोड़ आ गया है। तेलंगाना पुलिस ने शुक्रवार सुबह को इस मामले के सभी चारों आरोपियों को एनकाउंटर (Encounter) में मार गिराया है।

रिपोर्टों में कहा गया है कि पुलिस क्राइम सीन रिक्रिएट करने के लिए आरोपियों को मौका-ए-वारदात (नेशनल हाइवे-44) पर ले गई थी लेकिन मौके का फायदा उठाते हुए वे फरार होने लगे। पुलिस ने त्‍वरित कार्रवाई में फायरिंग की जिसमें सभी आरोपी मारे गए।

इस एनकाउंटर को लेकर राजनेताओं की अलग-अलग प्रतिक्रियाएं सामने आ रही हैं। अधिकांश नेताओं ने हैदराबाद पुलिस की तारीफ की है तो कुछ ने इस पर सवाल भी खड़े किए हैं। एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने कहा है कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के मुताबिक, हर एनकाउंटर की जांच होनी चाहिए।

कांग्रेस नेता शशि थरूर (Shashi Tharoor) ने tweet किया है कि न्यायिक व्यवस्था से इतर ऐसे एनकाउंटर स्वीकार नहीं किए जा सकते हैं। राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने कहा है कि न्याय कानून के तहत होना चाहिए था। माकपा नेता सीताराम येचुरी (Sitaram Yechuri) ने कहा कि गैर-न्यायिक हत्याएं महिलाओं के प्रति हमारी संजीदगी का जवाब नहीं हो सकती हैं। वहीं भाजपा सांसद मेनका गांधी ने कहा है कि आरोपियों को कानून के जरिए सजा दी जानी चाहिए थी।

दिल्ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि इस एनकाउंटर पर लोग खुशी जता रहे हैं। लेकिन, यह चिंता का विषय है कि लोगों का क्रिमिनल जस्टिस सिस्टम (Criminal Justice System) से भरोसा उठ गया है।

बसपा सुप्रीमो मायावती (Mayawati) ने कहा है कि उत्तर प्रदेश में महिलाओं के खिलाफ अपराध बढ़ रहे हैं, लेकिन राज्य सरकार सो रही है। उत्‍तर प्रदेश और दिल्ली की पुलिस को भी तेलंगाना पुलिस (Telangana Police) से सीख लेनी चाहिए, लेकिन दुर्भाग्य से इन राज्‍यों में अपराधियों की मेहमाननवाजी की जाती है। योग गुरु बाबा रामदेव (Ram Dev) ने कहा है कि पुलिस ने साहसि‍क काम किया है। मुझे लगता है कि इस न्‍याय से देश की जनता को सकून मिला है।

इस बीच पीड़‍िता के चाचा का बयान सामने आया है जिसमें उन्‍होंने कहा है कि न्‍याय त्‍वरित होना चाहिए ताकि लोगों में अपराध के प्रति भय हो। वहीं पीड़‍िता के पिता ने कहा कि मैं इसके लिए पुलिस और सरकार के प्रति आभार व्‍यक्‍त करता हूं। मेरी बेटी की आत्मा अब शांति मिलेगी। पीड़‍िता की बहन ने कहा है कि मैं बहुत खुश हूं। यह एक उदाहरण है। रेकॉर्ड समय में इंसाफ मिला है। मैं उनका शुक्रगुजार हूं जो इस मुश्किल घड़ी में भी हमारे साथ खड़े रहे।

निर्भया की मां ने कहा है कि हैदराबाद पुलिस का धन्यवाद। उसने एक नजीर पेश किया है जिससे ऐसा अपराध करने वालों में डर बैठेगा। इससे बढ़िया इंसाफ कुछ हो नहीं सकता था। अब जल्द से जल्द निर्भया के दोषियों को भी फांसी दी जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here