JNU Students Protest: पुलिस-छात्रों में हाथपाई, उग्र हुआ प्रदर्शन, बैरिकेड टूटे

पुलिस और छात्रों के बीच JNU दीक्षा समरोह स्थल पर संघर्ष बढ़ता जा रहा है। स्थल के मुख्य गेट पर जुटे छात्रों को पुलिस ने थोड़ा सा पीछे किया है और पुलिस जवान भी यहां पहुंचे हैं।

0
262

देश के नामी संस्थानों में शुमार जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (Jawaharlal Nehru University) में बढ़ी फीस समेत कई अन्य मांगों को लेकर सोमवार से JNU छात्रों का प्रदर्शन जारी है।

इस बीच खबर आई है कि पुलिस और छात्रों के बीच JNU दीक्षा समरोह स्थल पर संघर्ष बढ़ता जा रहा है। स्थल के मुख्य गेट पर जुटे छात्रों को पुलिस ने थोड़ा सा पीछे किया है और पुलिस जवान भी यहां पहुंचे हैं। दोनों के बीच जारी संघर्ष से दो बेरीकेड भी टूट गए हैं।

वहीं, कुछ देर पहले दक्षिणी दिल्ली रेंज के ज्वाइंट सीपी आनंद मोहन छात्रों से बातचीत की। इससे पहले JNU छात्र संघ के चारों प्रतिनिधियों ने मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक से मुलाकात की। छात्र संघ के प्रतिनिधि ने कहा कि हमें छात्रावास की फीस बढ़ाने के मुद्दों पर अशावासन दिया गयाहै। हालांकि अभी भी छात्रों और पुलिस के बीच गतिरोध जारी है।

इससे पहले दोपहर में कई बार छात्रों और पुलिस जवानों के बीच भिड़ंत की भी नौबत आई है। बवाल अब भी जारी है। इस बीच प्रदर्शनकारी छात्रों को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने वाटर कैनन का इस्तेमाल किया जा रहा है। गतिरोध के बीच एक छात्र तबीयत भी खराब हो गई।

वहीं, सुबह ऑडिटोरियम के अंदर चल रहे दीक्षांत समारोह में उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडु (Venkaiah Naidu, Vice President of India) मौजूद थे तो बाहर छात्र-छात्राओं को जोरदार प्रदर्शन जारी रहा।

प्रदर्शन के जोरदार होने का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि कई बार छात्रों और पुलिस के बीच नोकझोंक भी हुई है। फिलहाल प्रदर्शन जारी है। छात्र अपनी मांगों को लेकर अड़े हुए हैं।

JNU कैंपस में पिछले 15 दिनों से फीस वृद्धि के साथ अन्य मांगों को लेकर छात्र-छात्राएं प्रदर्शन कर रहे हैं। फीस में इजाफे के बाद छात्रों का कहना है कि 40 फीसद गरीब छात्र कैसे पढ़ाई करेंगे।

गौरतलब है कि दीक्षांत समारोह के बीच कैंपस में बड़ी संख्या में छात्र-छात्राएं अपनी कई मांगों को लेकर जोरदार प्रदर्शन कर रहे हैं। प्रदर्शनकारी छात्र-छात्राओं का कहना है कि बिना सस्ती शिक्षा के जवाहर नेहरू विश्वविद्यालय में दीक्षांत समारोह उन्हें मंजूर नहीं है। साथ ही उनका यह भी कहना है कि जब तक उनकी मांगें पूरी नहीं हो जातीं प्रदर्शन जारी रहेगा।

यहां पर बता दें कि सोमवार को हो रहे दीक्षांत समारोह में केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक के साथ उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडु भी शामिल हुए हैं।

मिली जानकारी के मुताबिक, इस बार जेएनयू प्रशासन ने दीक्षांत समारोह वसंत कुंज स्थित ऑल इंडिया काउंसिल ऑफ टेक्निकल एजुकेशन (All India Council of Technical Education) सभागार में रखा गया है।

मिली जानकारी के मुताबिक, जेएनयू के तीसरे दीक्षा समारोह स्थल के बाहर विश्वविद्यालय के छात्रों की तरफ से छात्रावास की फीस वृद्धि के खिलाफ प्रदर्शन किया जा रहा है। पुलिस ने अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद के ऑडिटोरियम से पहले जहां समरोह हो रहा है, वहां पर बेरिकेडिंग लगा कर छात्रों को रोका गया है। इसके चलते नेल्सन मंडेला मार्ग पर जाम लग गया है। वहीं, पुलिस छात्रों से अनुरोध कर रही है कि शांति व्यवस्था बनाए रखें।

यहां प्रदर्शन कर रहे एक छात्र का कहना है- ‘पिछले 15 दिनों से हम फीस वृद्धि के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं। जेएनयू में 40 फीसद छात्र गरीब परिवारों से आते हैं। ऐसे में कैसे हम शिक्षा ग्रहण कर पा रहे हैं।’

यह है छात्रों की मांगें

  • प्रदर्शनकारी छात्रों का कहना है कि फीस बढ़ोतरी का फैसला वापस लिया जाए।
  • हॉस्टल में छात्रों से कोई सर्विस चार्ज नहीं लिया जाए।
  • हॉस्टल में आने-जाने के लिए समय सीमा को खत्म किया जाए।
  • हॉस्टल में ड्रेस कोड नहीं लागू किया जाए।
  • नया हॉस्टल मैन्यू पूरी तरह रद किया जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here