प्रियंका गांधी के घर हुई सरक्षा भंग एक ‘इत्तेफाक’ था – अमित शाह

स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप (SPG) संशोधन बिल लोकसभा के बाद राज्यसभा से भी पास हो गया है. बिल पर वोटिंग के दौरान कांग्रेस सांसदों ने राज्यसभा से वॉकआउट किया.

0
342

SPG Amendment Bill: स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप (SPG) संशोधन बिल लोकसभा के बाद राज्यसभा से भी पास हो गया है. बिल पर वोटिंग के दौरान कांग्रेस सांसदों ने राज्यसभा से वॉकआउट किया.

गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने कहा कि सरकार ने गांधी परिवार से सुरक्षा वापस नहीं ली है बल्कि सिर्फ बदलाव किया है. जो रक्षा मंत्री, गृह मंत्री और उपराष्ट्रपति और राष्ट्रपति को सुरक्षा मिली है, वही उनको भी मिली है.

इस दौरान अमित शाह ने प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) की सुरक्षा में हुई चूक को लेकर भी बात की. बता दें कि पिछले महीने प्रियंका गांधी के घर में एक महिला सहित पांच लोग बिना किसी रोकटोक के अंदर घुस गए थे.

अमित शाह ने कहा कि प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi) के घर हुई सरक्षा भंग एक ‘इत्तेफाक’ था. प्रियंका गांधी के घर जो सुरक्षा है इसमें राहुल गांधी, रॉबर्ट वाड्रा सुरक्षा जांच के बिना अंदर आते हैं. सुरक्षाकर्मियों के पास एक सूचना आई कि राहुल गांधी एक काली सफारी गाड़ी में आने वाले हैं. ठीक उसी समय एक काली सफारी गाड़ी आई और उसमें शारदा त्यागी कांग्रेस कमिटी खरगोरा मेरठ की नेता थीं. चूंकि समय भी वही था, इसलिए वह बिना सिक्यॉरिटी जांच के अंदर चली गईं. समय वही था और गाड़ी भी काली थी तो सिक्यॉरिटी एजेंसियों ने उन्हें जाने दिया. यह एक इत्तेफाक था. इसके बावजूद हमने इस मामले की उच्चस्तरीय जांच का आदेश दिया है. इस मामले में तीन सुरक्षाकर्मियों को सस्पेंड किया गया है.

बता दें कि बीते 25 नवंबर को प्रियंका गांधी के घर के बगीचे के पास बने बरामदे में एक लड़की सहित पांच लोग कार लेकर घुस गए थे. इसके बाद कार से उतरकर वे सभी लोग प्रियंका गांधी के बगीचे में गए और कांग्रेस नेता के साथ फोटो खिंचवाने की बात कही. सूत्रों ने कहा कि परिवार उत्तर प्रदेश के एक शहर से उनके साथ फोटो क्लिक करने के लिए आया था. इस घटना से प्रियंका गांधी हैरान थीं, हालांकि उनलोगों के साथ उन्होंने फोटो खिंचवाई.

सूत्रों ने बताया था कि इन लोगों को देखकर प्रियंका गांधी हैरान थीं, क्योंकि किसी भी आगंतुक ने उनसे मिलने के लिए समय नहीं लिया था. CRPF कर्मियों द्वारा उनसे मिलने के लिए निर्धारित किसी भी आगंतुक के बारे में सूचित नहीं किया गया था. CRPF से यह भी पूछा गया है कि आगंतुक उनकी जानकारी के बिना अंदर कैसे आए, वह भी एक कार में बैठकर. सूत्रों ने बताया कि जैसे ही सीआरपीएफ को सुरक्षा में चूक का अहसास हुआ पूरे कंपाउंड को अलर्ट कर दिया गया. बता दें कि हाल ही में प्रियंका गांधी, उनकी मां सोनिया गांधी और भाई राहुल गांधी की SPG सुरक्षा वापस ले ली गई है और उन्हें जेड प्लस श्रेणी की सुरक्षा दी गई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here