नवजोत सिद्धू के लिए आज का फैसला काफी महत्वपूर्ण, 30 साल पुराना है केस

0
195
supreme

आज पंजाब के केबिनेट मंत्री नवजोत सिद्धू के रोडरेज मामले पर सुप्रीम कोर्ट की और से फैसला आना है। इस फैसले से यह सिद्धू यह निर्णय ले पाएंगे कि वह राजनीती के मैच में आगे जाएंगे या फिर पहले ही क्लीन बोल्ड हो जाएंगे। यदि सुप्रीम कोर्ट आज नवजोत सिद्धू के खिलाफ अपना फैसला देता है तो पंजाब की राजनीती को भी काफी अच्छा और करारा झटका लगेगा और इस फैसले के बाद काफी बड़ा उलटफेर भी दिखाई देगा।

बता दें 18 अप्रैल को सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस जे चेलमेश्वर और जस्टिस संजय किशन कौल की पीठ ने नवजोत सिद्धू का फैसला सुरक्षित रख लिया था। साथ ही नवजोत ने दावा किया था कि गुरनाम की मौत उसके विरोधाभासी है। लेकिन यह बात पोस्टमार्टम में सिद्ध नहीं हो पाई है कि वाक्य में ही ऐसा हुआ था। इस समय नवजोत सिद्धू पंजाब में पर्यटन मंत्री है।

गौरतलब है निचली अदालत ने नवजोत सिंह सिद्धू को सबूतों का अभाव बताते हुए साल 1999 में बरी कर दिया था। लेकिन पीड़ित पक्ष इस बात से नाखुश होकर मामले को आगे जारी रखने के लिए निचली अदालत के खिलाफ हाईकोर्ट पहुंच गया। जिसके बाद सभी सूत्रों पर साल 2006 में हाईकोर्ट ने इस मामले में नवजोत सिंह सिद्धू को तीन साल की सजा सुनाई थी। इसके बाद नवजोत सिंह सिद्धू इस फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंच गए। सुप्रीम कोर्ट ने नवजोत सिंह सिद्धू की याचिका पर सुनवाई करते हुए पिछले महीने फैसला सुरक्षित रख लिया था। जिस पर मंगलवार को फैसला सुनाया जाएगा।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here