मसूद अज़हर के मसले पर आज देश को अंतरराष्ट्रीय समुदाय का समर्थन मिला: सुषमा स्वराज

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज (Sushma Swaraj) ने आतंकी सरगना मसूद अजहर (Masood Azhar) को वैश्विक आतंकी (Global Terrorist) के रूप में सूचीबद्ध करने के मामले में कांग्रेस के कूटनीतिक विफलता के आरोपों को खारिज किया।

0
187

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज (Sushma Swaraj) ने आतंकी सरगना मसूद अजहर (Masood Azhar) को वैश्विक आतंकी (Global Terrorist) के रूप में सूचीबद्ध करने के मामले में कांग्रेस के कूटनीतिक विफलता के आरोपों को खारिज किया। शुक्रवार को उन्होंने कहा कि जो नेता इसे राजनयिक विफलता बता रहे हैं, वे स्वयं देख लें कि साल 2009 में भारत इस मुद्दे पर अकेला था, जबकि साल 2019 में उसे दुनियाभर से समर्थन प्राप्त है।

विदेश मंत्री ने अपने Tweet में कहा, मैं मसूद अजहर को संयुक्त राष्ट्र प्रतिबंध समिति के तहत सूचीबद्ध करने के बारे में तथ्यों से अवगत कराना चाहती हूं । इस बारे में प्रस्ताव चार बार आगे बढ़ाया गया। उन्होंने कहा कि साल 2009 में भारत संप्रग सरकार के तहत अकेला प्रस्तावक था । वहीं, 2016 में भारत के प्रस्ताव के सह प्रायोजकों में अमेरिका, फ्रांस और अमेरिका शामिल थे ।

साल 2017 में अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस ने प्रस्ताव आगे बढ़ाया था। सुषमा स्वराज ने कहा कि साल 2019 में प्रस्ताव को अमेरिका, फ्रांस और ब्रिटेन ने आगे बढ़ाया और संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के 15 में से 14 सदस्यों ने इसका समर्थन किया। इसके सह प्रायोजकों में आस्ट्रेलिया, इटली, जापान और बांग्लादेश जैसे देश शामिल थे। 

विदेश मंत्री ने कहा, मैंने इन तथ्यों को साझा किया है ताकि जो नेता इसे (मसूद अजहर मामले) हमारी राजनयिक विफलता बता रहे हैं, वे स्वयं देख लें कि साल 2009 में भारत अकेला था जबकि साल 2019 में उसे दुनिया भर से समर्थन प्राप्त है । 

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here