विराट कोहली ने ऋषभ पंत पर ज़ाहिर किया गुस्सा .

विराट कोहली ने कहा कि मैच में स्टंप करने के मौके महत्वपूर्ण होते हैं और मैदान में खराब फील्डिंग के कारण अंतिम ओवरों में पांच मौके गंवाने की बात पचाना सहनीय नहीं है।

0
461

टीम इंडिया (Team India) के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने रविवार को ऑस्ट्रेलिया (Australia) के हाथों चौथे वन-डे में मिली 4 विकेट की शिकस्त के बाद डीआरएस (DRS) पर सवाल खड़े किए हैं। भारतीय कप्तान ने कहा कि डीआरएस पर फैसला हैरानी भरा रहा और इसमें निरंतरता की कमी है।

इसके अलावा टीम इंडिया के कप्तान कोहली ने ऋषभ पंत की गलतियों पर भी अपना गुस्सा फोड़ा है। उन्होंने कहा कि मैच में स्टंप करने के मौके महत्वपूर्ण होते हैं और मैदान में खराब फील्डिंग के कारण अंतिम ओवरों में पांच मौके गंवाने की बात पचाना सहनीय नहीं है।

कोहली ने मोहाली वन-डे (Mohali ODI) के बाद कहा, ‘विकेट दोनों पारियों में अच्छा था, लेकिन पिछले दोनों मुकाबलों में ओस के कारण मुश्किल हुई। वैसे, यह कोई बहाना नहीं है। अंतिम ओवरों में पांच मौके गंवाने की बात पचाना मुश्किल है। एश्टन टर्नर और पीटर हैंड्सकॉम्ब ने बहुत अच्छी पारी खेली। उस्मान ख्वाजा ने भी पारी को संभाले रखा।’

ओस के कारण मुश्किल होने के बारे में बात करते हुए भारतीय कप्तान ने कहा, ‘पिछले मैच में हमें बताया गया था कि यहां ओस होगी। वैसे, यह स्वीकार करना होगा कि उनकी टीम ने बेहतर खेल दिखाया। उन्होंने सही जगह हिट किया और अपनी रणनीति का अच्छे से पालन किया। इसमें कोई शक नहीं है कि हम पहले बल्लेबाजी करना चाहते थे।’

ऑस्ट्रेलिया की युवा सनसनी एश्टन टर्नर ने रविवार को नाबाद 84 रन की तूफानी पारी खेलकर टीम इंडिया के मुंह से जीत छीन ली। उन्होंने सिर्फ 43 गेंदों में पांच चौके व छह छक्के की मदद से नाबाद 84 रन बनाए और टीम को 4 विकेट की जीत दिलाई। इसी के साथ ऑस्ट्रेलिया ने पांच मैचों की सीरीज में 2-2 की बराबरी की। टर्नर को उनकी ताबड़तोड़ पारी के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया। मैच के बाद दाएं हाथ के बल्लेबाज ने रोचक खुलासा किया।

मैन ऑफ द मैच का पुरस्कार हासिल करने के बाद टर्नर ने कहा, ‘मेरे पास शब्द नहीं हैं। मुझे काफी आत्मविश्वास था। मार्कस स्टोइनिस अपना फिटनेस टेस्ट दे रहे थे। मुझे लगा कि ड्रिंक्स लेकर मैदान में जाना रहेगा। मगर अंतिम समय में अपना दिमान ना खेलने से खेलने वाली स्थिति में लाना पड़ा।’ उन्होंने आगे कहा, ‘मुझे काफी विश्वास था कि अगर मौका मिला तो खेलने को तैयार रहूं। इस तरह से हम टीम के रूप में हर दिन नहीं खेलते। यह मैच शानदार था। भाग्यशाली रहा कि जीत मिली। मोहाली में बल्लेबाजी करने में बड़ा मजा आ रहा था। कुछ नजदीकी कॉल रहे, मुझे पता था कि लंबा शॉट जमाने पर गेंद मैदान के बाहर नहीं जाएगी, लेकिन दिल उसी तरफ दौड़ रहा था।’

26 वर्षीय टर्नर ने साथ ही कहा, ‘मेरे कुछ कैच छूटे, जिसके लिए अपने आप को भाग्यशाली मानता हूं। ऐसा हमेशा नहीं होता है। टर्नर ने पूर्व ऑस्ट्रेलियाई विस्फोटक ओपनर मैथ्यू हेडन की भी जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा, मैं भाग्यशाली हूं कि हेडन से कैप मिली। उनका मेरे प्रति बर्ताव शानदार रहा है। उनके सामने खड़े होने में अभी भी मुझे घबराहट होती है। उन्होंने मेरे साथ नेट्स पर काफी समय बिताया और लोग जानते हैं कि वह स्पिन को अच्छे से खेलना जानते हैं।’

बकौल टर्नर, ‘हेडन दिग्गज खिलाड़ी हैं। उनके साथ बैठकर क्रिकेट के बारे में बात करके बड़ा अच्छा लगता है। उनसे अच्छे शब्द सुनना अच्छा लगता है। स्पिन के खिलाफ मैंने गेंद को नजदीक से देखने का प्रयास किया। गेंद को देखना ज्यादा आसान है न कि उसे अनदेखा करना।’

ऋषभ पंत को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अंतिम दो वन-डे के लिए एमएस धोनी के विकल्प के तौर पर शामिल किया गया। मोहाली में पंत को मौका जरूर मिला, लेकिन वो अपनी उपयोगिता साबित करने में पूरी तरह नाकाम रहे। दर्शकों ने पंत को भूलने नहीं दिया कि वो दिग्गज विकेटकीपर की जगह भरने के लिए टीम में शामिल हुए हैं। 21 वर्षीय पंत ने फील्डिंग में कई गलतियां की, जिसका खामियाजा टीम इंडिया को मैच गंवाकर चुकाना पड़ा।

पंत ने बल्लेबाजी जरूर तेजतर्रार की। पांचवें क्रम पर बल्लेबाजी करने उतरे पंत ने 24 गेंदों में चार चौके और एक छक्के की मदद से 36 रन बनाए। टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया के सामने 359 रन का विशाल लक्ष्य रखा। हालांकि, विकेट के पीछे पंत पूरी तरह फ्लॉप रहे। युजवेंद्र चहल की लेग साइड में जाती गेंद को पंत पकड़ने में असफल रहे और एश्टन टर्नर को स्टंपिंग का मौका गंवाकर जीवनदान दे बैठे। ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज ने इस मौके को अच्छे से भुनाया और ऑस्ट्रेलिया को 4 विकेट से जीत दिलाई।

पंत की गलती का फायदा एलेक्स कैरी को भी मिला। ऐसा पारी के 44वें ओवर में हुआ। टर्नर और कैरी ने छठे विकेट के लिए 86 रन की साझेदारी करके भारत के पक्ष से मैच छीन लिया। मोहाली स्टेडियम में मौजूद दर्शकों को धोनी की कमी खली और यही वजह रही कि पूरे स्टेडियम में धोनी…धोनी की गूंज सुनाई दी। बता दें कि पंत को धोनी के उत्तराधिकारी के रूप में देखा जा रहा है। हाल ही में पंत को बीसीसीआई के केंद्रीय अनुबंध में ग्रेड ए में शामिल किया गया है। टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अंतिम दो वन-डे के लिए पंत को मौका दिया है ताकि वह फैसला कर सके कि दिल्ली का क्रिकेटर विश्व कप टीम में जगह हासिल करने का हकदार है या नहीं।
सीरीज का पांचवां व अंतिम मैच बुधवार को दिल्ली में होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here