Lockdown- कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पंजाब में लॉकडाउन की अवधि बढ़ाने के दिए संकेत।

पंजाब में लॉकडाउन और कर्फ्यू (Lockdown and Curfew) की अवधि बढ़ सकती है। प्रदेश के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Amarinder Singh) ने शुक्रवार (10 अप्रैल) को यह संकेत दिया।

0
388

Punjab- पंजाब में लॉकडाउन और कर्फ्यू (Lockdown and Curfew) की अवधि बढ़ सकती है। प्रदेश के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Amarinder Singh) ने शुक्रवार (10 अप्रैल) को यह संकेत दिया। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि राज्य में कोरोना वायरस (Coronavirus) के प्रसार को रोकने के लिए मास्क पहनना अब अनिवार्य है। उन्होंने कहा, “इसके लिए आपको साफ कपड़े का एक टुकड़ा चाहिए।” मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर जानकारी दी, “पंजाब में मास्क पहनना अब अनिवार्य है।”

उन्होंने कहा, “स्वास्थ्य सचिव लोगों के लिए विस्तृत सलाह जारी कर रहे हैं। किसी जरूरी काम के लिए घर से बाहर निकलते समय मास्क पहनना याद रखें। आप सबको साफ कपड़े के एक टुकड़े की जरूरत है। चलिए हम सभी सुरक्षित रहे और COVID-19 के खिलाफ एकजुट होकर लड़ें।”

पंजाब में शुक्रवार (10 अप्रैल) सुबह कोरोना का एक नया मामला सामने आने के साथ राज्य में संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 131 हो गई है। इस बीमारी से राज्य में अब तक 11 लोगों की मौत हो चुकी है।

पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के प्रेस ब्रीफिंग की खास बातें

  • जैसा कि आप जानते हैं, केरल के बाद Lockdown करने वाला दूसरा राज्य पंजाब था। हमें कर्फ्यू के जरिए इसे कठोर बनाना था और भोजन, दूध, सब्जियाँ, राशन आदि हर चीज की व्यवस्था भी करनी थ। चीजों को सुव्यवस्थित करने में समय लगता है, लेकिन आज हमारे पास हर मोहल्ले में सब्जियों की ट्रालीयों के साथ जाने वाली टीम है, हर किसी को दूध उपलब्ध करवाया जा रहा है और राशन के लिए, लोग या तो किराने की दुकान पर जा सकते हैं या ऑर्डर कर सकते हैं।
  • काफी लम्बा समय होने के कारण लोग तंग हो चुके हैं, लेकिन यह हमारे लिए आवश्यक था। कोरोना द्वारा पूरी दुनिया को चपेट में लेने और लॉकडाउन होने से पहले, 95,000 पंजाबी लोग- एनआरआई और पर्यटक वापस आए, इसके अलावा 44,000 लोग दिल्ली से आए।
  • सभी को हवाई अड्डों पर चेक किया गया, लेकिन कभी-कभी लक्षण बहुत बाद तक दिखाई नहीं देते। हमें उन लोगों की लिस्ट मिली, उन्हें क्वारंटाइन में रखा, टीमों ने उनके घरों का दौरा किया और 7-10 दिनों के बाद जाँच की कि क्या उनके लक्षण हैं? उन लोगों में से अधिकांश अब क्वारंटाइन से बाहर हैं, जिनके कोई लक्षण नहीं नजर आ रहे थे। दूसरा, ये नए मामले थे जो निज़ामुद्दीन से आए थे, ये 651 लोग थे। हमने 636 का पता लगाया, 15 अभी भी नहीं मिले हैं और हम उनकी तलाश कर रहे हैं
  • वर्तमान में पंजाब में 481 सैंपल लिए गए हैं, जिसमें से 27 पॉजिटिव पाए गए हैं। ये प्राथमिक स्रोत हैं और पंजाब में प्राथमिक स्रोत बढ़ रहा है। दोआबा क्षेत्र सबसे अधिक प्रभावित है, क्योंकि यह NRI’s का केंद्र है। इसमें हमें समय लगा है, लेकिन फिलहाल, चीजें नियंत्रण में हैं।
  • जहां तक टेस्ट की बात है, आज तक के आंकड़ों के अनुसार राज्य में 132 पुष्ट मामले हैं, जिनमें से 11 लोगों की मौत हो चुकी है। हमने अब तक 2877 सैंपल एकत्र किए हैं। शुरू में केवल 3 टेस्ट सेंटर थे- मेडिकल कॉलेज अमृतसर, पटियाला और चंडीगढ़ पीजीआई। हमने इसे सरकार के सामने रखा और उन्होंने फरीदकोट मेडिकल कॉलेज और लुधियाना में 2 निजी कॉलेजों में टेस्ट की अनुमति दी है, इसलिए अब परीक्षण में सुधार होगा। इसके अलावा जो नई टेस्ट किट आ रही हैं, हमें उम्मीद है कि सोमवार या मंगलवार तक वो हमारे पास होगी और फिर हम ज्यादा टेस्ट कर सकते हैं। पॉजिटिव टेस्ट वालों को कोरोना टेस्ट से गुजरना होगा।
  • उपकरणों की कमी है, क्योंकि हमें इसकी उम्मीद नहीं थी। चार चरण हैं
    प्रथम- 2000 बेड और उपकरण
    दूसरा, 10,000 बेड और उपकरण
    3- 30000 बेड और उपकरण
    4 – 1,00,000 मरीज और उपकरण
    हम उसके लिए व्यवस्था कर रहे हैं।
  • उपकरणों के संबंध में आज केवल एक वेंटिलेटर का उपयोग किया जाता है, क्योंकि केवल एक मरीज को इसकी आवश्यकता होती है, दो मरीज प्री-वेंटिलेटर चरण में होते हैं, बाकी आइसोलेशन वार्ड होते हैं। हमारे पास वेंटिलेटर सरकारी अस्पतालों में 76, निजी अस्पतालों में 358, कुल 434 हैं।
  • हमने पहले ही 8 वेंटिलेटर खरीदे हैं और 93 का आदेश दिया गया है। इसलिए यदि संकट बढ़ता है तो हमारे पास कुल 500 से अधिक वेंटिलेटर होंगे। स्टॉक में 62,000 एन -95 मास्क हैं, 2,70,000 के लिए ऑर्डर दिया गया है। पंजाब में ऐसे निर्माता हैं जिन्होंने PPE किट बनाया है, उनका टेस्ट बंगलौर में सरकारी लैब में किया गया है और इसे मंजूरी दी गई है। 14,000 में से 2,000 आये हैं और सोमवार से उनका उत्पादन एक दिन में 5,000 किट होगा। हम अपनी जरूरत के अनुसार रखकर बाकि राज्यों को भी देंगे।
  • हम लॉकडाउन का पालन सुनिश्चित करने के लिए अपनी पूरी कोशिश कर रहे हैं और उम्मीद है कि एक दवा उचित समय पर आएगी, जिसके साथ हम उनका इलाज कर सकते हैं। आंकड़े बढ़ रहे हैं लेकिन सौभाग्य से अब तक जो मामले सामने आए हैं, उनमें से ज्यादातर ऐसे हैं जो बाहर से आए हैं।
  • अब हम कटाई का सामना कर रहे हैं, 14 तारीख तक लॉकडाउन है, 15 से कटाई शुरू हो जाएगी। हमें इस भीड़ को रोकना होगा और सामाजिक दूरी को बनाए रखना होगा। हमने मंडियों की संख्या 1800 से बढ़ाकर 3800 कर दी है ताकि कम लोग एक मंडी में जाएं। हमें एक बम्पर फसल मिल रही है, जो लगातार चौथी है। अभी तक यही स्थिति है।

पंजाब में शुक्रवार (10 अप्रैल) सुबह कोरोना का दो नए मामला सामने आने के साथ राज्य में संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 132 हो गई है। इस बीमारी से राज्य में अब तक 11 लोगों की मौत हो चुकी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here