Weather Update: उत्‍तर भारत में शीतलहर से बढ़ेगी ठंड, कई राज्यों में होगी बारिश

पहाड़ों के उत्तरी भागों में शुष्क मौसम के साथ हाड़ कंपाने वाली ठंड जारी रहेगी। यही नहीं उत्‍तर भारत के कई इलाकों में घने कोहरे के साथ शीतलहर की स्थिति देखने को मिल सकती है।

0
348

समूचे उत्तर भारत (North India) में शीतलहर ने अपना असर दिखाना शुरू कर दिया है। मौसम विभाग की मानें तो कड़ाके की सर्दी से हाल फ‍िलहाल में निजात नहीं मिलने वाली है। पहाड़ों के उत्तरी भागों में शुष्क मौसम के साथ हाड़ कंपाने वाली ठंड जारी रहेगी। यही नहीं उत्‍तर भारत के कई इलाकों में घने कोहरे के साथ शीतलहर की स्थिति देखने को मिल सकती है। उत्तर के पहाड़ी इलाकों में मौसम ठिठुरन भरा होगा जबकि मैदानी इलाकों में उत्तर की ओर से बेहद सर्द हवाएं चलेंगी।

मौसम का हाल बताने वाली निजी एजेंसी SKY-MET Weather के मुताबिक, देश के उत्‍तर पश्चिमी मैदानी इलाकों में सुबह के समय कुछ स्‍थानों पर घने कोहरे का सामना करना पड़ सकता है। राष्‍ट्रीय राजधानी दिल्‍ली में सर्द हवाओं के साथ मध्‍यम कोहरे की स्थिति देखी जा सकती है। देश के पूर्वी और उत्‍तर पूर्वी राज्‍यों, खासकर दक्षिणी झारखंड ट्रफ अब कमजोर पड़ गई है जबकि नगालैंड और आसपास के इलाकों में एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र कायम है। इससे अरुणाचल प्रदेश, पूर्वी असम और नगालैंड में हल्‍की बारिश हो सकती है।

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में सोमवार को धूप खिली जिससे लोगों ने राहत की सांस ली साथ ही राहत कार्यों में तेजी आई है। लाहुल-स्पीति की पतन वैली को केलंग से जोड़ दिया गया है जबकि चंद्रा वैली में सड़क बहाली का काम जारी है। हालांकि, पूरे सूबे में अभी भी दो राष्ट्रीय राजमार्गों समेत 218 सड़कें बंद हैं। बर्फबारी और बारिश से सूबे में 45 करोड़ रुपये के नुकसान का अनुमान है। मौसम विभाग की मानें तो 19, 20 और 21 दिसंबर को मौसम के तेवरों के कड़ा होने से ऊंचे क्षेत्रों में बर्फबारी और निचले क्षेत्रों में बारिश की संभावना है।

SKY-MET Weather के अनुसार जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) के पास सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ के आगे निकल जाने के बाद अब उत्तर पश्चिमी ठंडी हवा उत्तर भारत के मैदानी इलाकों में चलने लगी हैं। दिल्ली एनसीआर में 10 से 15 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चल रही हैं। वहीं दिल्ली समेत पंजाब, हरियाणा, उत्तरी राजस्थान में घने कोहरे की शुरुआत भी हो चुकी है। इस साल ऐसा पहली बार देखने को मिल रहा है, जब पंजाब से लेकर हरियाणा, उत्तरी राजस्थान, पश्चिमी उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के उत्तरी इलाकों और दिल्ली सहित उत्तर भारत के सभी मैदानी इलाकों में धुंध बनी हुई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here