11 महीने में YES Bank का शेयर 78% गिरा, संस्थापक राणा कपूर को सात हज़ार करोड़ का नुक्सान।

प्राइवेट सेक्टर के दिग्गज बैंकों में शुमार रहा यस बैंक (Yes bank) का शेयर पिछले 11 महीनों में 78 फीसदी (78%) तक गिर गया है।

0
1200

प्राइवेट सेक्टर के दिग्गज बैंकों में शुमार रहा यस बैंक (Yes bank) का शेयर पिछले 11 महीनों में 78 फीसदी (78%) तक गिर गया है। इस गिरावट के चलते केवल अकेले बैंक के संस्थापक और पूर्व सीईओ राणा कपूर (Rana Kapoor) को सात हजार करोड़ रुपये का नुकसान उठाना पड़ा है।

ब्लूमबर्ग बिलियनेयर्स इंडेक्स के मुताबिक, राणा कपूर का नेटवर्थ पिछले 20 अगस्त से 1.4 अरब डॉलर (Rs 9800 Cr) से घटकर 37.7 करोड़ डॉलर (Rs 2601 Cr) रह गई है।

राणा कपूर ने 2004 में यस बैंक (Yes Bank) की शुरुआत की थी। उन्होंने इस बैंक को देश का चौथा सबसे बड़ा प्राइवेट बैंक बनाने में योगदान दिया था। उनकी इस बैंक में 10 फीसदी से थोड़ी ज्यादा हिस्सेदारी है।हालांकि, वो काफी पहले साफ कर चुके हैं कि वो अपने शेयर बेचने का इरादा नहीं रखते हैं।

बैंक के मुनाफे में 91 फीसदी की कमी देखने को मिली। पहली तिमाही में मुनाफा घटकर 113.8 करोड़ रुपये रह गया, जबकि पिछले वित्त वर्ष की पहली तिमाही में यह बैंक को 1260.4 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ था। बैंक के NPA में भी इजाफा देखने को मिला है।

बैंक का ग्रॉस एनपीए (Gross NPA) तिमाही आधार पर 3.22 फीसदी से बढ़कर 5.01 फीसदी हो गया है। नेट एनपीए (Net NPA) 1.86 फीसदी से बढ़कर 2.91 फीसदी रहा है। बैंक का ग्रॉस एनपीए (Gross NPA) 7,883 करोड़ रुपये से बढ़कर 12,092 करोड़ रुपये हो गया, जबकि नेट एनपीए (Net NPA) 4,485 करोड़ रुपये से बढ़कर 6883 करोड़ रुपये हो गया है।

बैंक की ब्याज से होने वाली आय में हालांकि बढ़ोतरी देखी गई। यह 2.8 फीसदी (2.8%) बढ़कर 2281 रुपये हो गई। पिछले वर्ष की पहली तिमाही में बैंक की ब्याज आय 2219.1 करोड़ रुपये थी।

बैंक की प्रोविजनिंग 3,661.7 करोड़ रुपये से घटकर 1,784 करोड़ रुपये रही है जबकि पिछले साल की पहली तिमाही में यस बैंक की प्रोविजनिंग 625.7 करोड़ रुपये रही थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here